Text selection Lock by Hindi Blog Tips

Sunday, December 29, 2013

मोनालिसा की सी मुस्कान ( लघु कथा )

" रमणी , तू क्या खाती है ! कितनी स्लिम ट्रिम है ! तेरा डाईट चार्ट लाना , मैं भी वही खाऊँगी कल से !" आमला चकित सी और थोड़ी ईर्ष्यालु सी हुई जा रही थी रमणी से कहते हुए।
रमणी जो कि जिम कि परिचारिका थी। भूख और हालात कि मारी हुई। जैसे- तैसे परिवार और छोटे बच्चे का पेट पाल रही थी।
भारी भरकम आमला का भार कई महीने से जिम आते हुए भी कम नहीं हो रहा था। ऐसे में शायद अनजाने में ही रमणी की डाइट- चार्ट पूछ बैठी।
अब रमणी क्या बताती कि वह सिर्फ गम खाती है। अच्छा खाना कब खाया था ,याद ही नहीं। लेकिन प्रकट में वह मुस्कुरा रही थी अपने होठों पर मोनालिसा की सी मुस्कान लिए।